Research and Development

Wind

नवीकरणीय ऊर्जा अनुसंधान और प्रौद्योगिकी विकास कार्यक्रम के अनुसार मंत्रालय पवन ऊर्जा क्षेत्र के जोर दिए जाने वाले क्षेत्रों में, जिसमें अपतटीय पवन ऊर्जा, संभावित मूल्यांकन, पूर्वानुमान और शेड्यूलिंग, सामग्री विकास, लागत कम करने वाली तकनीकें आदि सम्मिलित हैं, अनुसंधान और विकास परियोजनाओं का समर्थन करता है। अनुसंधान एवं विकास गतिविधियां एनआईडब्ल्यूई द्वारा प्रारंभ की गईं जो मंत्रालय के समर्थन से पवन ऊर्जा प्रौद्योगिकी से संबंधित गतिविधियों हेतु मंत्रालय की तकनीकी शाखा है। आर एंड डी कार्यक्रम के अंतर्गत, वित्तीय वर्ष 2014-15 से डिवीजन ने विभिन्न संस्थानों को आर एंड डी परियोजनाओं की स्वीकृति प्रदान की।   वित्तीय वर्ष 2014-15 से स्वीकृत आर एंड डी परियोजनाओं का विवरण नीचे दिया गया है:

क्रमांक

परियोजना का शीर्षक

 पीआई और संगठन का नाम           

टिप्पणियां

1

ग्रामीण टेलीफोनी संचालन के लिए पवन-पीवी हाइब्रिड सिस्टम के लिए एक नवीन फ्यूज कनवर्टर

 डॉ. वी.रजनी, एसएसएन कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग, कलावक्कम

परियोजना पूर्ण

2

संपीड़ित पवन ऊर्जा स्टोरेज प्रणाली सहित लघु क्षमता वाली पवन टरबाइन का अन्वेषण

 डॉ. आर. वलराज, इंस्टिट्यूट ऑफ एनर्जी स्टडीज़ (ऊर्जा अध्ययन संस्थान), अन्ना यूनिवर्सिटी, चेन्नई

परियोजना पूर्ण

3

माइक्रो ग्रिड अनुप्रयोग के रियल टाइम ईएमएस के लिए साइबर-फिजिकल कंट्रोलर का उपयोग करते हुए हाइब्रिड ऊर्जा प्रबंधन

 डॉ. ए. के. पार्वती, हिंदुस्तान इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड साइंस, पाडुर

परियोजना पूर्ण

4

कम पवन प्रवाह गति वाले क्षेत्रों के लिए 1केडब्ल्यू हाइब्रिड वर्टिकल एक्सिस विंड टरबाइन प्रणाली का डिजाइन और विकास

डॉ. टी. मीका प्रेमकुमार, हिंदुस्तान इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी एंड साइंस, पाडुर

परियोजना पूर्ण

5

ग्रिड इंटरएक्टिव 3 केडब्ल्यू रूफटॉप विंड टरबाइन आधारित हाइब्रिड नवीकरणीय ऊर्जा प्रणाली का डिजाइन और विकास

 प्रो. ए. पी. हरन, पार्क कॉलेज ऑफ इंजीनियरिंग एंड टेक्नोलॉजी, कनियूर

परियोजना पूर्ण

6

लो स्पीड डॉयरेक्ट ड्राइव विंड टरबाइन अनुप्रयोगों के लिए एक्सिस फ्लक्स परमानेंट मैगनेट जनरेटर का ऑप्टिमल डिजाइन

 डॉ. आर भारानी कुमार, बन्नारी अम्मन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नॉलॉजी

परियोजना पूर्ण

7

निर्दिष्ट अवधि में अधिकतम/इष्टतम ऊर्जा उत्पन्न करने के लिए 5 किलोवाट क्षमता की दक्ष छोटी मिल (लघु चक्की) का डिजाइन और विकास

 ए.डी. तिरुमूर्ति, मैसर्स अल्फा पॉवर, कोयंबटूर

परियोजना समयपूर्व समाप्त

8

3केडब्ल्यू विंड एयरो-जनरेटर और विंड चार्ज कंट्रोलर का डिजाइन और विकास

 श्री. उदय क्षीरसागर, मैसर्स स्पिटज़ेन एनर्जी सॉल्यूशंस (इंडिया) प्राइवेट लिमिटेड, पुणे

परियोजना समयपूर्व समाप्त

9

सी-डब्ल्यूईटी फैसिलिट, कायथार में 200केडब्ल्यू मिकान बिजली संयंत्र का उपयोग करके माइक्रो थ्रस्टर संवर्धित पवन ऊर्जा जनरेटर का विकास और स्थापना

 डॉ. आर. नटराजन, वीआईटी विश्वविद्यालय, वेल्लोर

परियोजना पूर्ण

10

घरेलू छोटे हॉरिजेंटल एक्सिस विंड टरबाइन में कंपन नियंत्रण

 डॉ. एम. युवराज, पीएसजी कॉलेज ऑफ टेक्नोलॉजी, कोयम्बटूर

परियोजना पूर्ण

11

छोटे पवन टरबाइनों को सपोर्ट देने हेतु सक्षम बनाने के लिए वर्तमान दूरसंचार टावरों का ढांचागत मूल्यांकन और सुदृढ़ीकरण

 डॉ. अनिल अग्रवाल, भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान, हैदराबाद, तेलंगाना

चल रही है

12

भावी आवासीय-ग्रामीण विद्युतीकरण हेतु हाइब्रिड डीसी माइक्रो ग्रिड प्रणाली

 डॉ. राजेश गुप्ता, मोतीलाल नेहरू राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, इलाहाबाद

परियोजना पूर्ण 

13

कम वेग वाले क्षेत्रों में बिजली उत्पादन के लिए मैग्नेटिकली लेविटेटेड माइक्रो वर्टिकल एक्सिस विंड मिल का डिजाइन और विकास

 डॉ. एम. वेंकटरमणन, अन्ना विश्वविद्यालय, चेन्नई

परियोजना पूर्ण 

14

तिरुवन्नमलाई जिले में ग्रिड से जुड़े पवन-सोलर हाइब्रिड बिजली उत्पादन के लिए दक्ष पावर कंडीशनिंग प्रणाली का डिजाइन और विकास

 डॉ. वी. सरवनन, हेड/पीजी/ईईई, अरुणई इंजीनियरिंग कॉलेज, तिरुवन्नमलाई

चल रही है

15

व्यापक गति सीमा और ग्रिड-पृथक सुदूर अनुप्रयोगों के लिए उपयुक्त एक पवन-सोलर हाइब्रिड माइक्रोजेनरेशन योजना।

 डॉ. देबाशीस चटर्जी, प्रोफेसर, जादवपुर विश्वविद्यालय, कोलकाता

चल रही है

16

बिजली उत्पादन के दोहरे मोड पीजो-इलेक्ट्रिक और इलेक्ट्रिक जेनरेटर का उपयोग कर भंवर प्रेरित कंपन पवन बिजली उत्पादन

 डॉ. प्रशांत बारेदर, सहायक प्रोफेसर, मौलाना आज़ाद राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, भोपाल

परियोजना पूर्ण

17

विक्षोभ कम करने के लिए सवोनियस विंड रोटर का ब्लेड प्रोफाइल संशोधित करना

 डॉ. प्रशांत बारेदर, सहायक प्रोफेसर, मौलाना आज़ाद राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, भोपाल

परियोजना पूर्ण 

18

नैनो ग्रिड प्रचालन के लिए एक बहुउद्देशीय इंटेलिजेंट कंट्रोलर का विकास

 डॉ. सी. वैजयंती, सहायक प्रोफेसर, राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान, गोवा

चल रही है

19

मानचित्रण और माप के माध्यम से क्रियान्वित एकीकृत पवन और सोलर संसाधन मूल्यांकन

डॉ. राजेश कत्याल, डीडीजी, एनआईडब्ल्यूई, चेन्नई

चल रही है

20

देश में अपतटीय पवन शक्ति विकास को बढ़ावा देने के लिए खंभात की खाड़ी और मन्नार की खाड़ी में मौसमी-महासागरीय माप (लहर, ज्वार, वर्तमान जल स्तर आदि)

 डॉ. राजेश कत्याल, डीडीजी, एनआईडब्ल्यूई, चेन्नई

चल रही है

दस्तावेज: आर एंड डी प्रारूप