Green Energy Corridors

सोलर और पवन जैसे नवीकरणीय स्रोतों से उत्पादित बिजली को ग्रिड में पारंपरिक बिजली स्टेशनों के साथ सिंक्रोनाइज़ करना ग्रीन एनर्जी कॉरिडोर परियोजना का उद्देश्य है।

बड़े पैमाने पर नवीकरणीय ऊर्जा की निकासी के लिए, मंत्रालय द्वारा 2015-16 में राज्य के अंदर पारेषण प्रणाली (आईएनएसटीएस) परियोजना को मंजूरी दी गई। इसे तमिलनाडु, राजस्थान, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात, हिमाचल प्रदेश और मध्य प्रदेश, इन आठ नवीकरणीय समृद्ध राज्यों द्वारा क्रियान्वित किया जा रहा है। इन राज्यों में परियोजना को संबंधित राज्य पारेषण उपयोगिताएं (ट्रांसमिशन यूटिलिटीज) (एसटीयू) द्वारा क्रियान्वित किया जा रहा है।

 

परियोजना में मार्च 2020 तक पूरी होने वाली लगभग 9400 सीकेएम पारेषण लाइनें और कुल 19000 एमवीए क्षमता के सबस्टेशन सम्मिलित हैं। क्रियान्वयन वाले राज्यों में बड़े पैमाने की 20,000 एमडब्ल्यू नवीकरणीय शक्ति निकासी करना और ग्रिड में सुधार करना इसका उद्देश्य है।

कुल परियोजना लागत रु. 10141 करोड़ है। फंडिंग मेकेनिज्म (वित्तपोषण व्यवस्था) में भारत सरकार का 40% अनुदान (कुल रु. 4056.67 करोड़), 20% राज्य इक्विटी और केएफडब्ल्यू, जर्मनी से 40% ऋण (500 मिलियन यूरो) शामिल हैं।

 

एसटीयू को दो किस्तों में केंद्रीय अनुदान वितरित किया जाता है: a) अनुबंध किए जाने पर 70% अग्रिम, और b) सफल स्थापना और कार्यप्रदर्शन परीक्षण के तीन महीने बाद शेष 30% दिया जाता है।


संस्थागत व्यवस्था और क्रियान्वयन रणनीति

 

प्रतिस्पर्धी बोली प्रक्रिया के माध्यम से कार्य आवंटन करते हुए परियोजना का क्रियान्वयन संबंधित राज्य ट्रांसमिशन यूटिलिटीज (एसटीयू) द्वारा किया जा रहा है। मंत्रालय हर महीने परियोजना की निगरानी (समीक्षा) करता है। संबंधित संयुक्त सचिव की अध्यक्षता में और सीईए और पीजीसीआईएल के सदस्यों के साथ, एक परियोजना मूल्यांकन समिति परियोजना की समीक्षा करती है और एसटीयू को केंद्रीय अनुदान के वितरण संबंधी सिफारिश करती है।

 

31 जुलाई 2019 तक की स्थिति

राज्य के अंदर पारेषण प्रणाली (इंट्रा-स्टेट ट्रांसमिशन सिस्टम)

राज्य

लाइनों का लक्ष्य (सीकेएम)

निर्मित लाइनें (सीकेएम)

तमिलनाडु

1068

906

राजस्थान

802

620

आंध्र प्रदेश

782

345

हिमाचल प्रदेश

541

102

गुजरात

1902

770

कर्नाटक

625

278

मध्य प्रदेश

2882

1714

महाराष्ट्र

776

318

योग

9378

5053

अंतर-राज्य ट्रांसमिशन प्रणाली (इंटर-स्टेट ट्रांसमिशन सिस्टम)

आईएसटीएस लाइन विवरण

निर्मित लाइनें (सीकेएम)

स्थिति

अजमेर (नया)- अजमेर (आरवीपीएन) 400केवी डी/सी

131

पूर्ण

चित्तौड़गढ़ (नया)- चित्तौड़गढ़ (आरवीपीएन) 400केवी डी/सी

97

पूर्ण

तिरुनेलवेली पूलिंग स्टेशन - तूतीकोरिन पूलिंग स्टेशन 400 केवी 2xडी/सी

48

पूर्ण

चित्तौड़गढ़ - अजमेर (नया) 765केवी डी/सी

422

पूर्ण

बनासकांठा - चित्तौड़गढ़ 765केवी डी/सी

604

पूर्ण

बनासकांठा - सांखरी (आरवीपीएन) 400 केवी डी/सी

43

पूर्ण

भुज पूल - बनासकांठा 765 केवी डी/सी

578

पूर्ण

अजमेर (नया) - बीकानेर (नया) 765 केवी डी/सी

526

पूर्ण

बीकानेर (नया) - मोगा (पीजी) 765 केवी डी/सी - 734 सीकेएम

372

निर्माणाधीन

बीकानेर (नया) पर 400 केवी भादला - बीकानेर (आरवीपीएन) लाइन के एक सर्किट का एलआईएलओ

18

पूर्ण

योग

2839

 


दस्तावेज:

1.    प्रशासनिक स्वीकृति

2.    निधि वितरण दिशानिर्देश (फंड डिस्बर्सल गाइडलाइंस)

3.    परियोजनाओं की सूची के साथ राज्य को पुनरीक्षित स्वीकृति

दस्तावेज